Sunday, 9 June 2019

क्या हुआ था पियूष के साथ PUBG खेलते समय जिसके कारण सुसाइड करना पड़ा





बिहार के भागलपुर में रहने वाला पियूष का उम्र 17 साल था, 12थ का एग्जाम कंप्लीट कर चूका था , लेकिन उसके साथ एसा क्या होगया PUBG  खेलते समय जो उसको सुसाइड करना पड़ा.

दोस्तों आजका हमारा ये पोस्ट आपके लिए बहुत ज़्यादा इम्पोर्टेन्ट हो सकता है, तोह इस पोस्ट को आखिर तक ज़रूर पढ़िए , Specially  आप अगर पेरेंट्स हो तोह.

आप लोगो को तोह मालूम जरूर होगा कि PUBG आखिर किया है, PUBG  एक BATTLE  गेम है जो मोबाइल और कंप्यूटर दोनों में खेला जाता है , इस गेम की खासियत ये है की ये गेम आप अपने दोस्तों के साथ ऑनलाइन खेल सकते हो चाहे आपके दोस्त दुनिया के किसी भी जगह पर रहता हो और आप उसके साथ बात भी करसकते हो।  यहाँ आपको 100 प्लेयर्स के साथ बटले ग्राउंड पर छोड़ दिया जाता है और आपको लास्ट तक सर्वाइव करना पड़ता है।  अगर आप लास्ट तक सर्वाइव करलेते हो तोह आप विनर हो जाते हो.







बिहार के रहने वाले 17 साल के पियूष को और बच्चों की तरह PUBG  बहुत पसंद था, जब भी उसको टाइम मिलजाता था वह PUBG  खेलता रहता था. PUBG से उसे खास लगाव था , सुबह और सम  PUBG  खेलने के लिए उसे अपने पिता माता से डाट भी पड़ता था.


दैनिक जागरण के खबर के मुताबिक बिहार के भागलपुर में वकील रामबिलास का फॅमिली रहता था , पियूष उनका बेटा था , 6th जून के साम को पियूष PUBG  खेलना शुरू किया , रात 10 बजे पीयूष की माँ उसे खाना देने उसके रूम में गयी और खाना खाने के लिए कहा , उसके माँ ने उसे PUBG  खेलने से मना भी किया और वह गुस्सा हो गया फिर उसने कहा मुझे टेंशन मत दो , मुझे भूख लगेगी तोह खाना खा लूँगा.


फिर पियूष की माँ अपने रूम में जाकर सो गयी, रात 11 बजे रामविलास की नींद खुली तोह उसने पियूष के रूम में गया और देखा की पियूष फंदे से लटक रहा था , फिर उन्होंने आस पड़ोस के लोगो को जगाया और पुलिस को भी फ़ोन किया. पुलिस आया पियूष को फंदे से नीचे लाया और पोस्टमॉर्टेम के लिए भेज दिया.






पियूष के बॉडी के पास से एक सुसाइड नोट भी मिली जिसमे लिखा था की, PUBG  खेलने के दौरान पीयूष के सारे ग्रुप मेंबर्स मारा जा चुका था इसलिए उसने सुसाइड करलिया. पियूष ने लोगो से अपने बच्चे के ऊपर नज़र रखने की अपील भी किया है और अपने बच्चों को हर छोटी छोटी बातों पर डांटने के लिए मना भी किया है, उसने लिखा है कि इससे बच्चो को और ज़्यादा टेंशन होता है।



PUBG  के कारण आज एक और जान चली गयी, पर हमारे तरफसे यही कहना है कि गेम चाहे कोई भी हो गेम को गेम की तरह खेलना चाहिए, उसको रियल लाइफ में नहीं लाना है. वैसे तोह इस गेम के ऊपर काफी स्टेट के गवर्नमेंट ने Banned  करने की अपील की है Supreme Couart  से, लेकिन ये गेम अभीतक हमारे देश में बनद नहीं हो पाया है. और दिन दिन बच्चे इसमें और ज़यादा एडिक्ट होता जारहा है.



अगर आप किसी बच्चे के पेरेंट्स हो तोह अपने बच्चों को जितना हो सके एसे  गेम से दूर रखने की कोसिस करे और अपने बच्चो को पहले समझाए कि ये बस एक गेम है रियल लाइफ नहीं है, रियल लाइफ कुछ और है और ये गेम कुछ और है.


Thanks for visiting our blog.



Also read this post...
How to Detect Hidden CCTV Cameras in Changing Room or Hotels.

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.